Interview Tips in Hindi: आपके जवाब में धैर्य और विश्लेषण क्षमता का दिखना जरूरी

Interview Tips in Hindi: राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) प्रदेश में राज्य सिविल सेवकों की भर्ती के लिए राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवाएं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा का आयोजन समय-समय पर करता रहता है। यह प्रदेश की सबसे बड़ी परीक्षा है। इस परीक्षा के तीन चरण होते हैं। प्रारंंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार। मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद आयोग साक्षात्कार के लिए आमंत्रित करता है। यह साक्षात्कार 100 अंक का होता है। आयोग के अनुसार, अभ्यर्थियों के साक्षात्कार में चरित्र, व्यक्तित्व और काया के संबंध में अंक देने के अतिरिक्त, अभ्यर्थियों के राजस्थानी संस्कृति के ज्ञान का परीक्षण किया जाता है। राज्य सेवाओं के लिए होने वाला साक्षात्कार बहुआयामी होता है। इसका कोई तय पाठ्यक्रम या पैटर्न नहीं है, लेकिन राज्य सेवा के पदों की प्रकृति को ध्यान में रख कर इसकी तैयारी की जा सकती है। साक्षात्कार के अंकों की चयन में यह तैयारी बड़ी भूमिका निभाती है।

ऐसे दें जवाब
यह साक्षात्कार आपके पर्सनेलिटी का संपूर्ण टेस्ट होता है। इसमें संयम, धैर्य और आत्मविश्वास का होना बहुत जरूरी है। साक्षात्कार मंडल के प्रश्न पूछने के तुरंत बाद उत्तर न दें, प्रश्न धैर्य से सुनें। संयम और आत्मविश्वास के साथ उत्तर दें।

काल्पनिक प्रश्नों की तैयारी
साक्षात्कार मण्डल की ओर से राज्य सेवा की जरूरतोंं के अनुरूप कुछ काल्पनिक प्रश्न अक्सर पूछे जाते हैं। ऐसे प्रश्नों से आपके मनोविज्ञान और प्रशासनिक क्षमता का आकलन किया जाता है। इसलिए ऐसे प्रश्नों के जवाब व्यावहारिक और विवेक के अनुसार मानववादी दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए दें। प्रशासनिक अधिकारी के नाते सरकारी योजनाओं से जनता को कैसे लाभान्वित करेंगे? ऐसे प्रश्न के लिए आपका नजरिया नया होना चाहिए, ताकि आपके नए विचार प्रशासन में चुस्ती ला सकें और मण्डल के सदस्य आपकी नजरिए से प्रभावित हों।

इनका अध्ययन जरूर करें
सामान्यत: आपको राजस्थान की कला व संस्कृति, भूगोल व अर्थव्यवस्था का गहनता से अध्ययन करना चाहिए। इसके साथ ही देश के संविधान, देश की राजनीतिक व्यवस्था , लोक नीतियां, सिविल सोसायटी व तत्कालीन ज्वंलत मुद्दों की सटीक जानकारी होनी चाहिए। भारत सरकार और राज्य सरकार के द्वारा बनाई गई नीतियों के प्रति आपका नजरिया कैसा है? आप प्रशासनिक अधिकारी बनने जा रहे हैं, इसलिए आपके सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक नजरिए , निर्णय लेने की क्षमता , नेतृत्व क्षमता, समस्याओं के प्रति नजरिया जैसे गुणों को परखा जाता है। इसलिए आपका व्यक्तित्व तार्किक, वैज्ञानिक, मानववादी व प्रगतिशील होना चाहिए। आपके जवाब संकीर्ण और रूढि़वादी न हों।

इसे जरूर समझें
अक्सर पूछा जाने वाला प्रश्न है, आप आरएएस अधिकारी क्यों बनना चाहते हैं? इसके लिए आपके पास स्पष्ट दृष्टिकोण और वजह होनी चाहिए, बनावटी उत्तर बिल्कुल न दें। साक्षात्कार वाले दिन सुबह समाचार पत्रों को जरूर पढ़कर जाएं। कई बार किसी ज्वलंत राजनीतिक, सामाजिक मुद्दे पर प्रश्न पूछ लिया जाता है, जो उस दिन समाचार पत्रों की हेडलाइन होता है। इसलिए बेसिक मापदंडों के इर्द-गिर्द तैयारी करें।

ये गलतियां बिल्कुल न करें
जब साक्षात्कार मण्डल के सदस्यों की ओर से साक्षात्कार पूरा होने की बात कही जाए, तभी वहां से जाएं। वापस जाने से पहले धन्यवाद जरूर कहें। कई बार टीम की ओर से तीखे सवाल और कठोर रुख अपनाए जाने के कारण अभ्यर्थी नर्वस हो जाते हैं और धन्यवाद कहे बिना ही तेजी से बाहर निकल आते हैं। इससे बचें। साक्षात्कार कैसा भी रहे, विनम्रता और संयम बनाए रखें।

Read The Original Article

Leave a Reply