Shabnam Ali Biography : Amroha, Wiki, Age, Boyfriend, Family

Shabnam Ali Biography : Amroha , Wiki, Age, Boyfriend, Family, 2008 

Shabnam Ali Biography Case of Amroha , son of Shabnam , jail in Mathura
Shabnam Ali Biography Case of Amroha , son of Shabnam , jail in Mathura

Who is Shabnam Ali

हेलो दोस्तों आज हम बताने वाले हैं शबनम अली कौन हैं एक ऐसा नाम जिस नाम से हर कोई नफरत करता है और सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात तो यह है कि यह भारत देश की पहली वह महिला है जिसे स्वतंत्रता के बाद फांसी  की सजा सुनाई गई है |

शबनम अली ने ऐसा क्या किया है कि ऐसा दंड दिया गया है हर कोई इसके बारे में जानना चाहता है आखिरकार इसका अपराध क्या है इसकी कहानी क्या है इसमें ऐसा क्या किया है कि लोग आज भी यह कहते हैं कि शबनम अली के लिए फांसी  की सजा बहुत कम है |

यह घटना है 15 अप्रैल, 2008. UP के अमरोहा डिस्ट्रिक्ट का गांव – बावनखेड़ी. रात के लगभग डेढ़ दो बजे होंगे. एक लड़की ज़ोर-ज़ोर से चीखती है. उसकी चीख सुनकर आस पड़ोस वाले इकट्ठा हो जाते हैं.आसपास के लोगों ने जब वहां पर जाकर देखा तो  सभी की आंखें फटी रह गई |

 घर के अंदर घुसते हैं तो वहां के हालात देखकर दंग रह जाते हैं. अंदर सात लाशें पड़ी हैं. इस लड़की के परिवार के सारे सदस्य मारे गए हैं. जीवित बची है तो ये 25 साल की लड़की, जिसका नाम शबनम है. जो मरे, वो थे – शबनम के मां-बाप. शबनम के दो भाई. शबनम की एक भाभी. शबनम की एक मौसी की बेटी. शबनम का एक भतीजा.

(father Shaukat Ali (55), mother Hashmi (50), elder brother Anees (35), Anees’s wife Anjum (25), younger brother Rashid (22), cousin Rabia (14), and Arsh, Anees’s 10-month-old son.)

शबनम अली के बारे में बताने से पहले कुछ ऐसी जानकारी जो कि आपको पता होना चाहिए  वह जानकारी निम्नलिखित हैं |

Shabnam Ali Biography in Hindi

Full Name Shabnam Ali
Nick Name Shabnam
Punisment Hanging

Shabnam Personal Life

Age 38
Place of birth Bawan Kheri, Hasanpur, Amroha
Height   1.62 M
Weight (approx.) 60 Kg
Marital Status  Unmarried
Boyfriend Name Saleem
Husband Name N/A
Chaild Name N/A
Eye Color Black
Hair Color Black
Nationality Indian
Zodiac Sign Not Known
Shabnam Income Not Now
Religion Muslim
Hobbies Not Now
Net Worth (Approx.) Not Now
Per Movie Charge Not Now
Educational Qualification Double MA
School Not Now
College Not Now

Shabnam Amroha death Case

शबनम अली ने अपने प्रेमी के साथ ऐसा कार्य किया जिसे कभी कोई भी भूलना नहीं चाहेगा और ऐसे कार्य के लिए लोगों ने फांसी की सजा को भी बहुत कम बताया है शबनम अली के द्वारा  14 अप्रैल 2008 को अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर परिवार के 7 सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया परिवार में  शबनम अली के परिवार – पिताजी ,  माताजी ,  दो भाइयों ,  भाभी ,  चचेरे भाई ,  और एक 10 महीने के भतीजे को मौत के घाट उतार दिया |

 यह घटना बताई जा रही है 14 अप्रैल 2008 को रात के समय में हुई थी | इस घटना की पूरी कहानी आप इस पोस्ट में पढ़ने वाले हैं | 

Shabnam Ali Age 

शबनम अली ने सन 2008 में ऐसा कार्य किया जिसे शबनम के गांव वाले किसी को उस घटना के बारे में बताते हैं तो हर किसी के रोंगटे खड़े हो जाते हैं क्योंकि  घटना कुछ ऐसी है जिसे आप जानने वाले हैं आप लोगों को बता दें कि शबनम अली की उम्र 38 है | 

Shabnam – Amroha death date

शबनम अली ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर 14 अप्रैल 2008 को यह कार्य किया जिसे आज भी लोग भूल नहीं पाए हैं हर कोई इसके बारे में जानना चाहते हैं | 

Shabnam Ali Family 

शबनम अली के परिवार के बारे में बताने वाले हैं जो परिवार आज इस दुनिया में नहीं है शबनम अली के परिवार में उनके पिता जी, मां, दो भाई , चचेरा , भाभी, और एक 10 महीने का भतीजा यह परिवार आज इस दुनिया में नहीं है | यह घटना एक ऐसी घटना है जो कि शायद भारत देश में पहली बार हुई है कि परिवार के किसी खास व्यक्ति ने ही ऐसा कुछ कर दिया | 

Who is Shabnam Ali

शबनम अली कौन है ? अमरोहा जिले के हसनपुर एक क्षेत्र है जहां पर भवानी खेड़ी एक गांव है उसी गांव की रहने वाली है शबनम शौकत अली जो कि एक शिक्षक है उनकी बेटी है और सबसे बड़ी बात तो यह है कि शबनम अली इकलौती बेटी है इस शबनम अली का चक्कर सलीम नाम के साथ था यह एक दूसरे को प्यार करते थे |

सलीम एक मजदूर था जो की पांचवी कक्षा में फेल हो गया था इसीलिए शबनम के परिवार वाले इस रिश्ते को नहीं मान रहे थे

 शबनम लड़की के परिवार वालों को जब इस प्रेम संबंध के बारे में पता चला तो इस रिश्ते से बिल्कुल इनकार कर दिया और सभी परिवार के सदस्यों ने शबनम और सलीम के रिश्ते का विरोध किया |

उसी समय, सलीम पांचवीं कक्षा में फेल हो गया और पेशे से मजदूर था। इसलिए, परिवार के सदस्यों ने उनके रिश्ते के बारे में विरोध किया। 

Shabnam Ali Boyfriend Saleem Story

शबनम अली अपनी परिवार में इकलौती बेटी थी जिसकी उम्र मात्र 25 वर्ष थी और यह शबनम अपने प्यार में एकदम अंधी हो चुकी थी और यह सलीम नाम के लड़के से प्यार करती थी लेकिन किसी की जान ले लेगा कोई भरोसा नहीं करेगा |

 शबनम ने अपने पढ़ाई के क्षेत्र में डिग्रियां कर रखी थी और वहीं दूसरी तरफ  शबनम सलीम नाम के लड़के से प्यार करती थी और वह सलीम पांचवी कक्षा में फेल था फिर भी शबनम सलीम से शादी करने के लिए तैयार थी लेकिन सबसे बड़ी बात यह थी कि शबनम के घर वालों ने इस रिश्ते से मना कर दिया क्योंकि सलीम पांचवी कक्षा में फेल था |

शबनम अली और सलीम के द्वारा एक ऐसी साजिश की गई खुद के परिवार के खिलाफ जिसे कोई भी भुला नहीं पाएगा |

 शबनम ने अपने परिवार से छुटकारा पाने का प्लान बना लिया और यह प्लान सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो जाएंगे शबनम के द्वारा रात के समय खाने में कुछ मिला दिया गया जिस कारण से पूरा परिवार बेहोश हो गया और लगभग रात के 1:00 या 2:00 बजे के बाद पूरे परिवार को शबनम ने मौत के घाट उतार दिया जिससे प्यार करती थी |

 इस बात को सुनने से ही हर कोई डर जाएगा कि आखिरकार परिवार में से कोई एक व्यक्ति खुद के परिवार के साथ ऐसा कैसे कर सकता है लेकिन ऐसा काम शबनम नाम की लड़की ने कर दिया जो कि प्यार से अंधी हो चुकी थी |

 बात यहीं पर खत्म नहीं होती है आगे की स्टोरी तो और भी डराने वाली है,  शबनम के द्वारा बनाए गए प्लान के अनुसार शबनम अचानक चिल्लाने लगती है यह सब कार्य करने के बाद पूरे परिवार में अब सिर्फ पूरे घर में सब ने अकेली बची थी और शबनम के पेट में पल रहा 2 महीने का बच्चा भी था |

 शबनम के अचानक चिल्लाने से गांव वाले आसपास के पड़ोसी सभी जाकर शबनम के घर जाकर देखते हैं तो सभी की आंखें फटी रह जाती हैं क्योंकि वहां का नजरिया इतना डराने वाला था कि हर कोई डर जाएगा |

 आसपास के लोगों ने देखा कि शबनम एकदम खून से लथपथ है और पूरा परिवार नीचे पड़ा हुआ है और उनके साथ जो कुछ किया वह सब आसपास के लोगों को समझ में आ गया लेकिन सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात तो यह थी कि आसपास के लोगों ने सब ने हमसे पूछा कि यह सब कैसे हुआ किसने किया है तो शबनम का जवाब सुनकर हर कोई हैरान हो गया और सभी लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया |

सब उनके द्वारा जवाब आया कि घर में कुछ लुटेरे आए थे और घर में कुछ ना मिलने पर पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दिया यह सब बातें शबनम ने डरते हुए बोला आसपास के लोगों ने तो भरोसा कर लिया लेकिन पुलिस कैसे भरोसा करती है वह तो सब लोग अच्छे तरीके से जानते हैं |

पूरे परिवार के 7 लोगों का पोस्टमार्टम हुआ तो डॉक्टर भी हैरान रह गई क्योंकि बात कुछ ऐसी थी कि हर कोई हैरान हो जाएगा और वहीं दूसरी तरफ पुलिस की जांच पड़ताल चल रही थी लेकिन पोस्टमार्टम के द्वारा आई हुई रिपोर्ट के अनुसार और शबनम के द्वारा कही गई बातें किसी भी तरह से मेल नहीं खा रही थी |

 क्यों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुछ अलग ही कहानी सामने आई जिस कारण से पुलिस का शक सीधा शबनम अली पर गया जो कि पूरे परिवार में एक ही बची थी |

शबनम से पूछताछ की गई तो सब उनके द्वारा बताया गया कि मैं अकेली बाथरूम में थी और लुटेरे आए और यह सब कुछ करके चले गए लेकिन मैं बाथरूम में थी इसलिए बच गए लेकिन यह कहानी पुलिस वालों को कुछ समझ में नहीं आई और शबनम से कुछ जोर शोर से पूछताछ की गई आखिरकार पुलिस के सामने शबनम कब तक झूठ बोलती सच्चाई सामने आ गई |

दरअसल शबनम की मोबाइल की जांच की गई तब शबनम की कॉल डिटेल भी सामने आ गई फिर तो पुलिस को पूरे सबूत ही मिल गए क्योंकि शबनम के घर में जिस समय यह घटना हुई उस रात को शबनम सलीम नाम के लड़की से फोन पर बात कर रही थी और उस पूरी रात को शबनम फोन पर बात कर रही थी यह सब कुछ कॉल डिटेल में सामने आ गया |

फिर पुलिस को सब कुछ समझ में आ गया वहीं दूसरी तरफ सलीम को भी पकड़ लिया गया जो कि शबनम का बॉयफ्रेंड था जो कि शबनम का प्रेमी था और शबनम जो झूठ बोल रही थी

वह सब सामने आ गया वह आखिरकार सबनम टूट गई और वहीं दूसरी तरफ सलीम को भी पकड़ लिया गया और सलीम ने सब कुछ कबूल लिया कि मैंने और शबनम ने किस प्रकार से परिवार के साथ यह सब कुछ किया इस कहानी को सुनकर पुलिस भी हैरान रह गई कि आखिरकार एक परिवार में ऐसा भी व्यक्ति है जिसने अपने परिवार के साथ ऐसा कुछ कर दिया हर कोई हैरान हो जाएगा इस कहानी को सुनकर |

ऐसा कुछ किसी ने फिल्मों में भी नहीं देखा होगा ऐसा रियल लाइफ में कर दिया शबनम नाम की लड़की ने जो की पूरी परिवार में इकलौती लड़की थी | 

the first woman likely to be hanged after Independence

वह पहली महिला फांसी घर लगभग 150 साल पहले मथुरा जेल में बनाया गया था, हालांकि, भारत में आजादी मिलने के बाद से किसी भी महिला को फांसी नहीं दी गई थी। इसे मथुरा जेल के अंदर ब्रिटिश शासन के दौरान बनाया गया था।

भारत में इस निष्पादन कक्ष का एकमात्र उल्लेख यूपी जेल मैनुअल, 1956 में पाया जा सकता है, जो मृत्युदंड पर महिला दोषियों के निष्पादन के लिए विस्तृत नियम देता है।

Reaction to the crime

कई हत्याओं की प्रतिक्रिया इतनी मजबूत थी कि जिन लोगों ने अपनी बेटियों का नाम शबनम रखा था, उन्होंने रातोंरात नाम बदल दिए थे।

इस बीच, शबनम के चाचा और चाची ने अदालत के फैसले पर खुशी जताई।

“हम घर पर नहीं थे जब नरसंहार हुआ था। जब हम लगभग 2 बजे वहां गए, तो चारों तरफ खून था और शव कटे हुए थे। यह अपराध अनुचित था, “उसके चाचा ने उसके नाम का खुलासा करने से इनकार करते हुए कहा।

उन्होंने आगे कहा कि वह फांसी के बाद शबनम के शव को स्वीकार नहीं करेंगे।

Pawan Jallad to execute Shabnam, Salim

इस बीच, पवन जल्लाद, जिन्होंने पिछले साल मार्च में निर्भया कांड के चार आरोपियों को फांसी दी थी, मथुरा जेल में शबनम और सलीम को सजा देंगे, जिसमें देश की अकेली महिला फांसी का कमरा है।

पवन ने कहा कि उसे फांसी के लिए मथुरा जेल का निरीक्षण करने के लिए कहा गया था और वह नौकरी के लिए तैयार है भले ही फांसी की तारीख अभी निर्धारित नहीं की गई है

खुसुर-फुसुर होने लगती है. लेकिन इन सभी बातों में, कानाफूसियों में, अनुमान की मात्रा ज़्यादा और सच की कम, बहुत कम रहती है. क्यूंकि कोई नहीं जानता कि ये सब क्यूं हुआ. कई लोग तो अब तक ये भी सही से नहीं जान पाते कि क्या हुआ. जानते हैं तो बस इतना कि कुछ बुरा, बहुत बुरा हुआ है. ऐसा जो इस गांव को हमेशा के लिए बदल कर रख देगा.

the first woman likely to be hanged after Independence

Shabnam & Saleem

Saleem
Saleem

शबनम और सलीम ने अपना गुनाह कबूल कर लिया और जब यह सच दुनिया वालों के सामने आया हर कोई इस कहानी को सुनने से ही डरने लगा क्योंकि यह कहानी एक डरावनी कहानी है और ऐसी फिल्म भी किसी ने नहीं देखी होगी आज तक की कोई व्यक्ति ऐसा कर सकता है-  मैं तो सिर्फ अंत में यही कहना चाहता हूं-  इस प्यार को क्या नाम दूं  !

Shabnam Ali son

शबनम के द्वारा जो भी कुछ किया गया इसमें शबनम के बेटे का कोई कसूर नहीं है क्योंकि जिस समय यह कार्य को अंजाम दिया गया उस समय शबनम का बेटा पेट में था | उस समय शबनम की उम्र 25 वर्ष थी प्यार में अंधी होकर ऐसा बड़ा काम कर बैठी कि इस काम को दुनिया वाले भुला नहीं पाएंगे शबनम अली का बेटा माँ को बचाने की आखिरी कोशिश करता है |

Who is Usman Saifi

उस्मान सैफी वह व्यक्ति है जिसकी मदद शबनम के द्वारा की गई थी कॉलेज के समय उस्मान सैफी के पास इतने रुपए नहीं थे कि वह अपनी पढ़ाई पूरी कर सके उस समय वह किसी से मदद भी नहीं ले सकता था लेकिन उस समय ऐसी हालत में शबनम ने उस्मान सैफी की मदद की थी और उसकी पढ़ाई करवाने में भी बहुत मदद की थी शबनम के द्वारा | इस लिए उस्मान सैफी शबनम का कर्जदार हो गया वह भी एहसानों का शबनम के द्वारा उस्मान सैफी पर कई एहसान किए गए |

और सबसे बड़ी बात तो यह है कि शबनम का जो बेटा जिस व्यक्ति ने गोद लिया है वह कोई और नहीं बल्कि वही उस्मान सैफी है जिसकी मदद शबनम ने की थी शायद इस बहाने से ही वह उस्मान सैफी शबनम ने जो एहसान किए थे उन्हें थानों को पूरा कर सकें |

अब आप लोगों की समझ में आ गई होगी कि उस्मान सैफी कौन है |

कहीं ना कहीं शबनम के द्वारा बहुत गलत किया गया है लेकिन कहीं ना कहीं शबनम ने कुछ पुण्य भी किए थे इसीलिए शबनम का बेटा सही व्यक्ति ने गोद ले लिया है इस बारे में आप लोग क्या सोचते हैं हमें जरूर बताइएगा |

Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography ,Shabnam Ali Biography, Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography,Shabnam Ali Biography

विशेष सूचना : इस पोस्ट को लेकर हम किसी के भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते लेकिन यह एक कड़वी सच्चाई है जो कि हर किसी के रोंगटे खड़े कर सकती है तो कृपया करके आप अपनी बात नीचे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं |

Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography ,Shabnam Ali Biography ,Shabnam Ali Biography ,Shabnam Ali Biography , Shabnam Ali Biography

Read Also :

Vikash Sharma Biography

Rinku Sharma Biography

Rajiv Kapoor Biography

Best Tech Jankari

Leave a Reply